आयुष्मान मित्र – भर्ती, योग्यता एवं कार्य – Ayushman Yojana

By | November 24, 2019

आयुष्मान मित्र कौन होता है? (Who is Ayushman Mitra)
Ayushman Mitra- Recruitment and Responsibilities

आयुष्मान मित्र सरकार द्वारा नियुक्त किया गया वह व्यक्ति होता है, जो आयुष्मान योजना के तहत पैनल में लिए गए (निशुल्क ईलाज प्रदान करने वाले) प्राईवेट व सरकारी अस्पतालों में नियुक्त होता है, तथा आयुष्मान भारत योजना के तहत लाभार्थियों की सहायता के लिए अस्पताल में मौजूद रहता है। जब भी किसी व्यक्ति को आयुष्मान बीमा योजना के तहत निशुल्क ईलाज की जरूरत पड़े या अस्पताल में भर्ती होना हो, तो सर्वप्रथम आयुष्मान मित्र की उसकी बीमारी व अन्य जरूरतों को देखते हुए अस्पताल प्रशासन को सूचित करता है, तथा लाभार्थी को अस्पताल में भर्ती करवाने तथा ईलाज शुरू करवाने की कार्यवाही करता है।

आयुष्मान मित्र के लिए योग्यता (Eligibility):

आयुष्मान मित्र के तौर पर कार्य करने के लिए निम्न योग्यताओं का होना अनिवार्य है:

  1. उम्मीदवार 12वीं कक्षा अथवा समकक्ष हो
  2. कंप्यूटर का बेसिक ज्ञान हो, जिसमें एसएस ऑफिस, इंटरनेट आदि सम्मिलित हैं
  3. आयुष्मान मित्र ट्रेनिंग कोर्स किया हो तथा संबंधित परीक्षा में उत्तीर्ण हो
  4. हिंदी/ अंग्रेजी अथवा स्थानीय भाषा का अच्छा ज्ञान हो

आयुष्मान मित्र की पोस्ट के लिए महिलाओं को प्राथमिकता दी जाएगी। सरकार के निर्देशानुसार आशा वर्करों को भी आयुष्मान मित्र के पद के लिए प्राथमिकता दी गई है। साथ ही सरकारी अस्पतालों में पहले से कार्यरत स्टाफ को भी आयुष्मान मित्र के पद के लिए नोमिनेट किया जा सकता है।

आयुष्मान मित्रों की नियुक्ति (Recruitment of Ayushman Mitra):

आयुष्मान मित्रों की नियुक्ति स्टेट हेल्थ एजेंसी (SHA/ State Health Agency) के द्वारा थर्ड पार्टी एजेंसियों के माध्यम से की जाती है। जिस क्षेत्र अथवा अस्पताल में जितने आयुष्मान मित्रों की आवश्यकता हो, उसी के आधार पर एजेंसी आयुष्मान मित्रों की भर्ती कर सकती है। स्टेट हेल्थ एजेंसी राज्य, जिला अथवा अस्पताल लेवल पर आयुष्मान मित्रों की डायरेक्ट भर्ती भी कर सकती है।

जरूरत पडऩे पर स्टेट हेल्थ एजेंसी सरकारी अस्पताल के पहले से नियुक्त स्टाफ को भी आयुष्मान मित्र के तौर पर नियुक्त कर सकती है।
प्राईवेट अस्पताल (जो आयुष्मान योजना के तहत निशुल्क ईलाज देते हैं) स्वयं ही आयुष्मान मित्रों की नियुक्ति करेंगे, तथा उनका वेतन इत्यादि भी स्वयं की वहन करेंगे।

एक अस्पताल में आयुष्मान मित्रों की संख्या उस अस्पताल में एक दिन में आने वाले केसों की संख्या के हिसाब से निर्धारित की जाएगी। जैसे:
0 से 10 केस के लिए 1 आयुष्मान मित्र, 10 से 20 केस के लिए 2 आयुष्मान मित्र, 20 से 30 केस के लिए 3 आयुष्मान मित्र तथा 30 से 40 केस के लिए 4 आयुष्मान मित्र नियुक्त किए जाएंगे।

आयुष्मान मित्रों के लिए ट्रेनिंग (Training of Ayushman Mitra):

प्रत्येक आयुष्मान मित्र को नियुक्ति से पहले विशेष ट्रेनिंग दी जाएगी, जिसमें उसे उसकी जिम्मेदारियों तथा कार्यों से अवगत कराया जाएगा। यह प्रशिक्षण ऑनलाईन तथा फेस टू फेस दोनों प्रकार से ही आयोजित की जा सकती है। प्रशिक्षण के उपरांत उम्मीदवारों की परीक्षा/ टेस्ट आयोजित होगा तथा योग्य उम्मीदवारों को सर्टिफिकेट प्रदान किया जाएगा, जिसके आधार पर वे आयुष्मान मित्र के तौर पर कार्य कर सकेंगे।

आयुष्मान मित्रों को क्या लाभ मिलेंगे?

सरकारी अस्पताल में:

सरकारी अस्पतालों में आयुष्मान मित्र की नियुक्ति स्टेट हेल्थ एजेंसी के द्वारा की जानी है, तथा उन्हें प्रदान किए जाने वाले सभी लाभ स्टेट हेल्थ एजेंसी अथवा अन्य संबंधित एजेंसी द्वारा ही निर्धारित किए जाएंगे।

सरकारी अस्पताल में उन्हें 2 तरह से लाभ मिल सकेगा, जैसे कि एक निर्धारित वेतन अथवा निर्धारित डेली वेजिस के हिसाब से भत्ता। साथ ही प्रत्येक केस के हिसाब से अलग से भत्ता। यह आयुष्मान मित्र को नियुक्त करने वाली एजेंसी पर निर्भर करता है।

प्राईवेट अस्पतालों में:

प्राईवेट अस्पतालों में आयुष्मान मित्रों को वेतन उसी अस्पताल के द्वारा दिया जाएगा। यहां आयुष्मान मित्र का वेतन कितना होगा, यह निजी अस्पताल ही निर्णय लेगा, इसमें सरकार अथवा किसी एजेंसी का कोई हस्तक्षेप नहीं होगा।

आयुष्मान मित्र का कार्यकाल:

आयुष्मान मित्र को 1 वर्ष के लिए नियुक्त किया जाएगा, तथा उसका अनुबंध अगले साल के लिए रिन्यू भी किया जा सकता है, परंतु यह उसे नियुक्त करने वाली एजेंसी पर निर्भर करता है।

यह भी देखें-

14 thoughts on “आयुष्मान मित्र – भर्ती, योग्यता एवं कार्य – Ayushman Yojana

  1. MD PARWEZ ALAM

    Sir i am already a lee i want to be friend of iyaman india

    Reply
  2. vikrant kumar

    sir,
    i am intrested job in bihar dist jehanabad panchyat punhada ps makhdumpur

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *