प्रधानमंत्री लघु व्यापारी मानधन योजना भारत सरकार द्वारा शुरू की गई एक योजना है|

 

जो छोटे व्यवसायों और लघु उद्यमियों को समृद्धि की दिशा में आगे बढ़ने के लिए मदद प्रदान करती है। यह योजना उन व्यापारियों को लक्षित करती है जिनके पास अपना खुद का व्यवसाय होता है लेकिन उनके पास आर्थिक संकट के कारण आवश्यक धन की कमी होती है।

इस योजना का उद्देश्य छोटे व्यवसायों को वित्तीय समर्थन प्रदान करना है ताकि वे अपने व्यापार को मजबूत कर सकें और नए उत्पादों की विकास के लिए उन्हें आवश्यक धन की सुविधा हो। यह योजना भारतीय अर्थव्यवस्था को मजबूत करने और विकास के सरलीकृत मार्ग को बढ़ावा देने का उद्देश्य रखती है। प्रधानमंत्री लघु व्यापारी मानधन योजना

इस योजना को 2019 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लॉन्च किया था।

यह योजना वित्त मंत्रालय के अंतर्गत चलाई जाती है और इसका मुख्य उद्देश्य छोटे व्यवसायों को पेंशन की सुविधा प्रदान करना है।

इस योजना के तहत, योग्यता और पात्रता के मानदंडों पर आधारित करके छोटे व्यवसायों को एक स्वावलंबी पेंशन योजना प्रदान की जाती है। यहां तक कि साथ ही उन्हें बीमा की सुविधा भी प्रदान की जाती है।प्रधानमंत्री लघु व्यापारी मानधन योजना

योजना के तहत पात्रता के लिए कुछ मानदंड हैं जिनमें शामिल होना जरूरी होता है।

यह मानदंड व्यापारिक व्यवसाय जैसे कि दुकानदार, दुकानदार, पोटरी, गाड़ी चालक, अच्छे बनाने वाले, निर्माण कार्य, ठेकेदार, वित्तीय सेवाएं, खाद्य संबंधित उद्योग, किराना दुकान, सफाई का काम, यातायात, खेती, नकली उत्पादन, आदि में अपना काम कर रहे लोगों के लिए हैं।  प्रधानमंत्री लघु व्यापारी मानधन योजना

इस योजना में पात्रता प्राप्त करने के लिए योग्य|

उद्यमी को 18 से 40 वर्ष की आयु के बीच होनी चाहिए। इसके अलावा, उद्यमी का व्यापारिक व्यवसाय 2019 की 1 अगस्त तक चालू होना चाहिए और उसकी वार्षिक अधिकतम आय 1.5 लाख रुपये से कम होनी चाहिए।

https://en.wikipedia.org/wiki

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *