अग्नीपथ योजना की शुरुआत देश के रक्षा मंत्री राजनाथसिंह द्वारा की गई|The Agneepath scheme was started by the country’s Defense Minister Rajnath Singh.

अग्निपथ योजना की शुरुआत देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने की है। इस योजना के तहत अग्निपथ योजना के माध्यम से देश के युवाओं को 4 साल के लिए सेना में भर्ती किया जाएगा। ये भी ले सकते हैं योजना में हिस्सा, आवेदन ऑनलाइन करना होगा, 4 साल की अवधि पूरी होने के बाद ये जवान अग्निवीर कहलाएंगे और इसके लिए इन्हें 11 लाख से ज्यादा की रकम सरकार की ओर से मुहैया कराई जाएगी. योजना में केवल 17.5 वर्ष से 21 वर्ष तक के युवा ही पात्र होंगे 25% सैनिकों को सेना में कार्यकाल पूरा होने के बाद सेना में रखा जाएगा अग्निपथ योजना के तहत सैनिकों को पहले 4.76 लाख का वार्षिक पैकेज प्रदान किया जाएगा। वर्ष। 4 साल में यह पैकेज 6.92 लाख होगा।अग्नीपथ योजना की शुरुआत देश के रक्षा मंत्री Defense Minister Rajnath Singh.

आत्मनिर्भर भारत में रोजगार योजनाए |

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना की शुरुआत हमारे देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 12 नवंबर 2020 को की है। यह योजना कोविड-19 काल से उभर रहे भारत में रोजगार को बढ़ावा देने के लिए शुरू की गई । आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के लिए सरकार द्वारा प्रतिष्ठानों, को सब्सिडी प्रदान की जाएगी जो नई भर्तियां करेंगे। इस योजना का मुख्य उद्देश्य नए रोजगार को प्रोत्साहित करना है। आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना से देश में रोजगार भी बढ़ेगा। इन्ही योजना के माध्यम से जिन लोगो का कोरोना काल के कारण रोजगार खोने वाले सभी लोगों को रोजगार पाने में आसानी भी होगी। ;  Defense Minister Rajnath Singh.

ऑपरेशन ग्रीन योजना पूरे भारत में लागू |

कोरोना काल के कारण भारत सरकार द्वारा ऑपरेशन ग्रीन योजना का दायरा बढ़ा दिया गया है। आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत केंद्र सरकार के उर्वरक प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय द्वारा ऑपरेशन ग्रीन योजना क्रियान्वित की जा रही है। इस योजना के तहत फलों और सब्जियों का उचित मूल्य सरकार द्वारा प्रदान किया जाएगा। इसके लिए सरकार ने 500 करोड़ का बजट तय किया है. अब ऑपरेशन ग्रीन योजना के अंतर्गत आलू, प्याज, टमाटर के साथ-साथ फल और सब्जियों को भी शामिल कर लिया गया है। इस योजना के तहत बागवानी की खेती करने वाले किसानों को नुकसान से बचाने का उद्देश्य रखा गया है।Defense Minister Rajnath Singh.

मत्स्य सम्पदा योजना लागू है |

कि आप सभी जानते हैं सरकार द्वारा वर्ष 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्य रखा गया है। इसी को ध्यान में रखते हुए सरकार ने मत्स्य संपदा योजना शुरू की है. मत्स्य सम्पदा योजना का उद्देश्य सरकार द्वारा मत्स्य पालन क्षेत्र के निर्यात को बढ़ाना है। इस योजना के माध्यम से मछली पालन और डेयरी से जुड़े किसानों की आय बढ़ाने का प्रयास किया जाएगा। मत्स्य सम्पदा योजना के लिए सरकार ने ₹20000 करोड़ का बजट निर्धारित किया है। इस योजना के तहत समुद्र और तालाब में मछली पालन पर भी जोर दिया जाएगा।

विवाद से विश्वास योजनाए|

सरकार द्वारा सभी विभिन्न कर मुद्दों को हल करने के लिए विबदोसे से विश्वास योजना शुरू की गई । इन योजना के तहत आयकर विभाग और करदाताओं की सभी अपीलें वापस ली जाएंगी। विवाद से विश्वास योजना विशेष रूप से उन लोगों के लिए है जिनके खिलाफ आयकर विभाग ने उच्च मंच पर अपील दायर की है विवाद से विश्वास योजना के माध्यम से अब तक 45855, मामलों का समाधान किया जा चुका है। जिसके तहत 72,780 करोड़ रुपये की टैक्स राशि सरकार को प्राप्त हुई है.| अग्नीपथ योजना की शुरुआत देश के रक्षा मंत्री राजनाथसिंह द्वारा की गई

पीएम वाणी योजना जनता के लिए |

पीएम वाणी योजना की शुरुआत हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा, 9 दिसंबर 2020 को की गई है। इस योजना के तहत सभी सार्वजनिक स्थानों पर वाई-फाई की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। यह सुविधा पूर्णता निःशुल्क, होगी पूरे भारत में। पीएम वाणी योजना से देश में आएगी वाईफाई क्रांति. जिससे व्यापार को भी बढ़ावा मिलेगा और रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे। पीएम वाणी योजना के सफल कार्यान्वयन के लिए पूरे देश में सार्वजनिक डेटा सेंटर खोले जाएंगे पूरे भारत में । जिसके माध्यम से देश के सभी नागरिकों को वाई-फाई की सुविधा प्रदान की जाएगी।अग्नीपथ योजना की शुरुआत देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह द्वारा की गई

उत्पादन से जुड़ी प्रोत्साहन योजना |

प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव योजना 11 नवंबर 2020 को शुरू की गई थी। इस योजना के तहत घरेलू विनिर्माण को बढ़ावा दिया जाएगा। प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव स्कीम में दवा, ऑटो कंपोनेंट, ऑटोमोबाइल समेत 10 अन्य प्रमुख सेक्टर को शामिल किया गया है. प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव स्कीम से मैन्युफैक्चरिंग बढ़ेगी और देश में आयात पर निर्भरता कम होगी. इस योजना से निर्यात भी बढ़ेगा. जिससे देश की अर्थव्यवस्था में सुधार आएगा. प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव स्कीम के लिए सरकार की ओर से 1,45,980 करोड़ रुपये का बजट तय किया गया है.अग्नीपथ योजना की शुरुआत देश के रक्षा मंत्री राजनाथसिंह द्वारा की गई

प्रधानमंत्री कुसुम योजना|

प्रधानमंत्री कुसुम योजना के माध्यम से सभी किसानों को सिंचाई के लिए | सौर ऊर्जा से चलने वाले सभी सोलर पंप उपलब्ध कराए । मोदी सरकार ने योजना को 2022 तक बढ़ा दिया है, | जिसके तहत 30.8 गीगावॉट की क्षमता हासिल करने का लक्ष्य रखा गया था । प्रधानमंत्री कुसुम योजना के सफल कर्य्बहन के लिए सरकार के द्वारा 34,035 करोड़ रुपये का बजट निर्धारित किया गया सौर पंपों के अलावा, ग्रिड से जुड़ी और सभी सौर ऊर्जा और अन्य निजीकृत बिजली प्रणालियाँ भी प्रदान की जाएंगी जल्दी | अधिक जानकारी के यहाँ click करे = https://www.aajtak.in/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *